Maa Ke Liye Shayari in Hindi

Maa  Ke Liye Shayari in Hindi: Are You Looking  For Maa Shayari Hindi Status? Then Here You Will Best Maa Ke Liye Shayari in Hindi Messages.

These Mother Shayari Hindi SMS Will Help You To Express Your Love Feelings For Mother. So Share Best Maa Ke Liye Shayari With Your Mom.

Soona Soona Sa Mujhe Yeh Ghaar Lagta Hai
Maa Jab Nahi Hoti Toh Bahut Darr Laagta Hai.

सूना सूना सा मुझे ये घर लगता है
माँ जब नहीं होती तो बहुत ड-र लगता है।

Rooh Ke Rishto Ki Yeh Gehraiyan Toh Dekhiye
Chot Laagti Hai Humhein Aur Tadapti Hai Maa,
Hum Khushiyon Mein Maa Ko Bhale Bhi Bhool Jaye
Jab Musibaat Aati Hai To Yaad Aati Hai Maa.

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ* तो देखिये
चोट लगती है हमें और तड़-पती है माँ
हम खुशियों* में माँ को भले ही भूल जायें
जब मुसी-बत आती है तो याद आती है माँ।

maa ke liye shayari images
maa ke liye shayari images

Maa Ke Liye Shayari in Hindi

Maine Kal Shab Chahton Ki Sab Kitabein Faad Di
Sirf Ek Kagaj Par Laafze Maa Rahne Diya.

मैंने कल शब चाहतों *की सब किताबें फाड़ दी
सिर्फ एक कागज़ पर ल-फ्जे माँ रहने दिया।

Bhookh Toh Ek Roti Se Bhi Mit Jaati Maa,
Agar Thali Ki Wo Roti Tere Haath Ki Hoti.
भूख तो एक रोटी से भी मिट जाती माँ,
अगर थाली की वो रोटी तेरे हाथ की होती।

Wo Lamha Jab Mere Bachche Ne Maa Pukara Mujhe,
Main Ek Shaakh Se Kitna Ghana Darakht Huyi.

वो लम्हा जब मेरे बच्चे ने माँ पुकारा मुझे,
मैं एक शाख़ से कितना घना दरख़्त हुई।

Neend Bhi Bhala In Aankhon Mein Kahan Aati Hai,
Ek Arse Se Maine Apni Maa Ko Nahin Dekha.

नींद भी भला इन आँखों में कहाँ आती है,
एक अर्से से मैंने अपनी माँ को नहीं देखा।

Baalaen Aakar Bhi Meri Chaukhat Se Laut Jaati Hain,
Meri Maa Ki Duayen Bhi Kitna Asar Rakhti Hain.

बालाएं आकर भी मेरी चौखट से लौट जाती हैं,
मेरी माँ की दुआएं भी कितना असर रखती हैं।

Wo Ujla Ho Ke Maila Ho Ya Manhga Ho Ke Sasta Ho,
Ye Maa Ka Sar Hai Is Pe Har Dupatta Muskurata Hai.

वो उजला हो के मैला हो या मँहगा हो के सस्ता हो,
ये माँ का सर है इस पे हर दुपट्टा मुस्कुराता है।

Bahut Bura Ho Phir Bhi Usko Bahut Bhala Kahti Hai,
Apna Ganda Bachcha Bhi Maa Doodh Ka Dhula Kahti Hai.
बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है
अपना गंदा बच्चा भी माँ दूध का धुला कहती है।

Nahi Ho Sakta Kad Tera Uncha Kisi Bhi Maa Se Ai Khuda,
Tu Jise Aadmi Banata Hai Woh Use Insaan Banati Hai.
नहीं हो सकता कद तेरा ऊँचा किसी भी माँ से ए खुदा,
तू जिसे आदमी बनाता है, वो उसे इन्सान बनाती है।

Maa Ki Ajmat Se Achchha Jaam Kya Hoga,
Maa Ki Khidmat Se Achchha Kaam Kya Hoga,
Khuda Ne Rakh Di Ho Jis Ke Kadmo Mein Jannat,
Socho Uske Sar Ka Mukaam Kya Hoga.

माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा,
माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा,
खुदा ने रख दी हो जिस के कदमों में जन्नत,
सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।

Sab Kuchh Mil Jata Hai Duniya Me Magar,
Yaad Rakhna Ki Maa-Baap Nahi Milte,
Murjha Kar Jo Gir Jaaye Ek Baar Dali Se,
Yeh Aise Phool Hain Jo Phir Nahi Khilte.

सब कुछ मिल जाता है दुनिया में मगर,
याद रखना कि माँ-बाप नहीं मिलते,
मुरझा कर जो गिर जाये एक बार डाली से,
ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते।

Kuchh Iss Tarah Mere Gunaaho Ko Dho Deti Hai,
Maa Bahut Gusse Mein Hoti Hai Toh Ro Deti Hai.
कुछ इस तरह वो मेरे गुनाहों को धो देती है,
माँ बहुत गुस्से मे होती है तो रो देती है।

Jab Jab Kagaj Par Likha Maine Maa Ka Naam,
Kalam Adab Se Bol Uthi Ho Gaye Charo Dhaam.
जब-जब कागज पर लिखा मैने माँ का नाम,
कलम अदब से बोल उठी हो गये चारो धाम।

Jannat ka har lamha didar kiya tha,
God mein uthakar jab maa ne pyar kiya tha.

जन्नत का हर लम्हा दीदार किया था,
गोद में उठाकर जब मां ने प्यार किया था।

Halato ke aage jab sath na zuban hoti hai,
Pehchan leti hai khamoshi mein har dard,
Wo sirf “maa” hoti hai.

हालातों के आगे जब साथ ना जुबां होती है,
पहचान लेती है खामोशी में हर दर्द,
वो सिर्फ “माँ” होती है।

Wo zameen meri wo hi aasman,
Wo khuda mera wo hi bhagwan,
Kyon main jaoon use kahi chhod,
Maa ke qadmon mein sara jahaan hain.

वो जमीं मेरी वो ही आसमान,
वो खुदा मेरा वो ही भगवान्,
क्यों मैं जाऊं उसे कहीं छोड़,
माँ के क़दमों में सारा जहां हैं।

Jara Si Baat Hai Lekin Hawaa Ko Kaun Samjhaye,
Ki Meri Maa Diye Se Mere Liye Kajal Banati Hai.
जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,
कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है

Maang Lun Yeh Duaa Ke Fir Yahi Jahaan Mile,
Fir Wahi God Mile Fir Wahi Maa Mile.
मांग लूँ यह दुआ कि फिर यही जहाँ मिले,
फिर वही गोद मिले फिर वही माँ मिले

तेरे क़दमों में ये सारा जहान होगा एक दिन,
माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले।
Tere Kadmon Mein Yeh Saara Jahan Hoga Ek Din,
Maa Ke Hothhon Pe Tabassum Ko Sajaane Wale.

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने,
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।
Gin Leti Hai Din Bagair Mere Gujare Hain Kitne,
Bhala Kaise Kah Doon Ki Maa Anparh Hai Meri.

पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन,
बस इक औलाद की तकलीफ़ से माँ टूट जाती है।
Pahaado Jaise Sadme Jhelti Hai Umr Bhar Lekin,
Bas Ik Aulad Ki Takleef Se Maa Toot Jati Hai.

Read More

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close Bitnami banner
Bitnami